Showing result for
Black Rudraksha Mala

351.00
Black Rudraksha with Golden Color Cap Locket
Enter Pincode to see product availability and delivery options

हर इच्छा की पूर्ति

कहते हैं भगवान शिव को प्रसन्न करना बेहद आसान है। वह इतने भोले हैं कि जो भी उन्हें मन से याद करता है वह उसकी हर इच्छा को पूरी करते हैं।

भारतिय संस्कृति में रुद्राक्ष पहनने का बहुत मतलब है। हिंदू धर्म के अनुसार इसे पहनना बहुत शुभ माना जाता है लेकिन क्या आप जानते है कि रुद्राक्ष पहनना सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। रुद्राक्ष पहनने से सिर्फ आध्यात्मिक ही नहीं बल्कि कई मानसिक और सेहत से भरपूर फायदे भी मिलते है। इसे पहनने से दिल से लेकर डायबिटीज की समस्या में फायदा मिलता है। आज हम आपको बताएंगे कि रुद्राक्ष पहन कर आप किन बीमारियों को दूर कर सकते है। आइए जानते है रुद्राक्ष पहनने के फायदे।
 

1. दिल के रोग
रुद्राक्ष में मौजूद केमो फार्माकोलॉजिकल गुण ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करते है। इससे आप दिल के रोगों से बचे रहते है।

2. नर्वस सिस्टम
इसमें आयरन, फास्फोरस, एल्युमिनियम, कैल्शियम, सोडियम, पोटैशियम और सिलिका जैसे गुण होते है, जोकि आपके नर्वस सिस्टम को प्रभावित करते है। इसे धारण करने से आपका नर्वस सिस्ट ठीक से काम करता है।

3. डायबिटीज और किडनी रोग

5. ब्लड प्रैशर
पंचमुखी रुद्राक्ष पहनने से आपका ब्लड प्रैशर कंट्रोल में रहता है। इसके अलावा इससे पहनने से तनाव या डिप्रैशन की समस्या भी नहीं होती।
इसे हर समय पहन कर रखने से किडनी रोग में तो फोयदा होता ही साथ ही इससे डायबिटीज भी संतुलित रहती है।

6. दिमागी समस्याएं
आजकल लोग बड़ी जल्दी तनाव का शिकार हो जाते है। ऐसे में रुद्राक्ष पहनने से आप तनाव, सिरदर्द, चिंता, दिमागी समस्याएं और डिप्रैशन की समस्याएं दूर होती है। इसके अलावा इसे पहनने याददाश्त भी तेज होती है।

  

रूद्राक्ष का एक अर्थ है रूद्र यानी शिव की आंख या आंख के आंसू। कहते हैं सती की मृत्यु से शिव को बहुत दुख हुआ और उनके आंसू कई जगह बहे। उनसे रूद्राक्ष के बीज उत्पन्न हुआ। रूद्राक्ष स्वयं भगवान शिव ही हैं । इनमें एक अनोखा स्पंदन होता है, साधक की ऊर्जा को सुरक्षित कर देता है। बाहरी शक्तियां उसे परेशान नहीं कर पाती हैं।